बहन ने अपने सगे भाई को मारी गोलियां

प्रयागराज

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (Prayagraj) में नैनी थाना क्षेत्र के चक रघुनाथ में मंगलवार शाम घर के अंदर घुसकर युवक को गोली मारे जाने के सनसनीखेज मामले का पुलिस और क्राइम ब्रांच ने ढ़ाई घंटे के अंदर ही खुलासा कर दिया है। घटना में घायल युवक आजमगढ़ (Azamgarh) में तैनात पुलिस इंस्पेक्टर सभाजीत सिंह का बेटा है, जिसे उसकी ही सगी छोटी बहन ने 3 गोलियां मारी थीं। 15 साल की नाबालिग लड़की ने वारदात के बाद पिता से फोन पर बात कर लूट का ड्रामा भी रचा था। 17 वर्षीय भाई से नोक-झोंक के बाद बहन ने भाई को पिता की लाइसेंसी पिस्टल से गोली मार दी। गोली मारने के बाद लड़की ने बाहर से आए हमलावरों के गोली मारने और लूटपाट की कहानी पुलिस को बताई। लेकिन मौके पर पहुंची पुलिस और क्राइम ब्रांच को परिजनों की बातों में कई झोल नजर आ रहा था। जिसके बाद पुलिस ने सख्ती से बात की तो लड़की ने भाई को गोली मारने की बात कबूल कर ली। वहीं लड़की आजमगढ़ में तैनात पिता के वापस आने पर ही घटना क्रम बताने की बात कही है। घायल युवक का मेडिकल कालेज के एसआरएन अस्पताल में इलाज चल रहा है। पुलिस और क्राइम ब्रांच ने घर में ही पिस्टल और लूटे हुए गहने बरामद कर लिया है। वहीं लड़की के घटना की वजह न बताने से सस्पेंस बना हुआ है कि आखिर किस वजह से एक बहन ने अपने भाई को गोली मारकर उसकी जान लेने की कोशिश की है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!