कोटला में डिच चलने के बाद भी कालोनाइजर ने नहीं किया काम बंद

जालन्धर (लखबीर)

सरकारी खजाने को दीमंक की तरह उसके अधिकारी व मुलाजिम ही खाते आ रहे हैं, जिस की उदाहरण शहर व साथ लगते गांवों में कट नाजायज कालोनियां व अवैध बिल्डिंगों से लगाई जा सकती है। वहीं बहुत सारे कालोनाइजरों में भ्रष्टाचार इतना घर कर गया है कि उन्हें अब किसी का भय नहीं रह गया है। इसी तरह का ताजा मामला गांव कोटला का देखने को मिल रहा है, जहां के कालोनाइजर ने अवैध कालोनी तो काट ही रखी है पर उसने पुडा की कार्रवाई के बाद भी काम को बंद नहीं किया है। बतादें कि कुछ दिन पहले कोटला की अवैध कालोनी पर पुडा ने डिच चलाकर उसे मलियामेट कर दिया था पर बावजूद उसके धड़ल्ले से काम चल रहा है।

सरकारी जमीन को भी बेच रहा…

इतना ही नहीं उक्त कालोनाइजर के हौसले इतने बुलंद है कि उसने सड़क के साथ लगती करीब 200 मरला जमीन जिसका कोई दस्तावेज भी नहीं उसे भी साथ मिला लिया है, जिसे भी वह 2 लाख रुपए प्रति मरला के हिसाब से बेच रहा है। बतादें कि जिस जमीन को कालोनाइजर बेच रहा है, उसकी रजिस्ट्री भी नहीं हो सकेगी।

डिच नहीं अब लगेगा बोर्ड : जेई

पुडा के जेई सिद्धर्थ ने कहा कि अगर डिच के बाद भी प्लाट बिक रहे हैं तो जल्दी ही अगली कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि पहले भी नोटिस जारी किए गए थे तथा अब दोबारा डिच चला कर बोर्ड लगाने की कार्रवाई की जाएगी।

सरपंच पर भी हो सकती कार्रवाई…

वहीं शिकायतकर्ता दीपक ने कहा कि अगर कालोनी का काम नहीं रुका तो बिना रजिस्ट्री वाली जगह बेचने तथा अवैध कालोनी काटे जाने के कारण गांव के सरपंच के खिलाफ भी शिकायत दर्ज करवाई जा सकती है क्योंकि उनकी परमिशन के बिना सरकारी जमीन का सौदा नहीं हो सकता था, इसलिए उनके खिलाफ भी कार्रवाई करवाई जाएगी।

Leave a Reply

error: Content is protected !!