पटवारी पर लगे रिश्वत मांगने के आरोप, हुआ भारी हंगामा

जालंधर (लखबीर)
तहसील में भ्रष्टाचार पर लगाम कसती दिखाई नहीं दे रही। यहां एक और डीसी से लेकर एसडीएम व एसडीएम से लेकर अन्य बड़े अधिकारियों के दफ्तर तहसील में होने के बावजूद शरेआम रिश्वत मांगी जा रही है। इसी तरह का ताजा मामला पटवारखाने में देखने को मिला जहां जब एक पटवारी पर फरद दर्ज करने के लिए ₹1000 की मांग के आरोप लगे जिसके बाद मामला गम्भीर हो गया। आवेदक मिस्टर भाटिया ने आरोप लगाए कि मैं तुम्हें किस बात के पैसे दूं जिसके बाद काफी कहासुनी हुई। लोगों अनुसार पटवारी तेजिंदर सिंह के गर्म तेवर देखकर दोनों पक्षों में काफी हंगामा हुआ। बतादें कि पटवारखाने में शरेआम बहुत सारे पटवारी लोगों से रिश्वत मांग कर उनका शोषण करते आ रहे हैं पर इस और किसी भी अधिकारी ने कोई कार्रवाई नहीं की है। आज के मामले अनुसार भाटिया ने बताया कि वह तेजिंदर सिंह से चक जिंदा की फरद लेने के लिए आए थे कि उसने पैसों की मांग कर दी। उन्होंने कहा कि पटवारी ने 1000 रुपए मांगे जबकि वे उसे ₹500 देने तक राजी हो गए थे पर पटवारी तेजेंद्र सिंह अपने कठोर रवैया कारण टस से मस नहीं हुआ तथा हंगामा हो गया। हंगामा इतना ज्यादा हुआ के लोगों की काफी भीड़ लग गई। लोगों अनुसार उक्त पटवारी ने जिन प्राइवेट लड़कों को पाल रखा है उनके जरिए भी पैसों की मांग करता रहता है। उन्होंने कहा कि पटवारी लोगों से कहता है कि ₹1000 लगेगा जिसमें से ₹300 सीधे तौर पर प्राइवेट लड़कों को दिया जाए। जब पटवारी से बात की तो उन्होंने कहा कि मामला कुछ ज्यादा नहीं था सिर्फ बहसबाजी हुई है।

पहले भी रह चुका चर्चा में पटवारी… 

लोगों अनुसार उक्त पटवारी पहले भी काफी चर्चा में रह चुका है। पटवारी कभी ना कभी अपने गर्म स्वभाव कारण नुकसान जरूर करवाएगा। लोगों की माने तो बिना बात बहसबाजी करने का आदी है तथा रिश्वतखोरी के चक्कर में काफी मशहूर है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!