ये है तहसील मेरी जान.. जहां स्वर्ग में बैठे लोगों की भी हो जाती हैं रजिस्ट्रियां!

जालन्धर (लखबीर)

वैसे तो सरकारी दफ्तरों में जनता आपना काम आसानी से नहीं करवा पाती पर जालन्धर तहसील में इस तरह का एक विभाग मौजूद है, जहां चाहे जिंदा लोगों को काम करवाने के लिए खासी परेशानियों व कठिनाइयों से गुजरना पड़ता है तथा इसके अलावा बहुत सारा खर्चा भी फीसों से ज्यादा करने के लिए मजबूर रहते हों पर वहां स्वर्ग से आकर लोग आसानी काम करवा जाते हैं। पिछले कुछ समय दौरान दोनों सब रजिसट्रार दफ्तरों में स्वर्ग से आकर लोग रजिस्ट्रियां करवा गए हैं, यानि कि दोनों दफ्तरों में मृतक लोगों की रजिस्ट्रियां दर्ज हो चुकी हैं। जो लोग मर चुके हैं, उनकी जगह किसी अन्य को खड़ा करके रजिस्ट्रियां दर्ज करवा लीं गई हैं। ऐसा नहीं है कि इससे पहले किसी मृतक व्यक्ति की रजिस्ट्री न हुई हो पर कुछ ही समय में लगातार बहुत सारियां इस तरह की रजिस्ट्रियां होना हैरान करने वाला है।

जल्दी सारे मामले होंगे लोगों के सामने…

रोजाना न्जूज24 को मृतक लोगों की रजिस्ट्रियां होने संबंधी पुख्ता सबूत मिले हैं, जिसके आधार पर लोगों को अवगत करवाया जाएगा तथा इस काले कारोबार में कौन-कौन शामिल हैं, उनके चेहरे को भी बेनकाब किया जाएगा।

फंस सकते हैं आर.सी., वसीका नवीस से लेकर अधिकारी…

इतना तो साफ है कि किसी भी गलत काम को कोई भी मुलाजिम, कर्लक या अधिकारी अकेला अंजाम नहीं दे सकता है। इस पूरी कहानी के पीछे स्क्रिपट राइटर से लेकर विलेन तक हरेक की भूमिका पूरी रहती है। इस तरह के काम के लिए बहुत सारे वसीका नवीस ग्राहक को दफ्तर तक पहुंचाते हैं, जिसके बाद पूरी फिल्म की तैयारी खींची जाती है। शिकायतकर्ताओं अनुसार मामलों की सही ढंग से छानबीन के बाद आर.सी. वसीका नवीस से लेकर अधिकारी तक फंस सकते हैं क्योंकि इस काम की काली कमाई से उक्त लोगों ने आपने हांथ रंगे हैं।

शिकायतों का दौर शुरू…

मृतक लोगों की रजिस्ट्रियों के मामले में शिकायतों का दौर शुरू हो गया है तथा इनमें से कुछ लोगों ने जालन्धर प्रशासन से लेकर चंडीगढ़ तक शिकायतें दर्ज करवा दी हैं। अब देखने वाली बात है कि क्या शिकायर्ताओं को सफलता मिलती है या फिर मुलाजिम वगैरा का पलड़ा भारी होता है। इन सारे मामलों को पूरे दस्तावेजों के साथ लोगों तक पहुंचाने के लिए रोजाना न्यूज24 पूरी कोशिश करेगा।

Leave a Reply

error: Content is protected !!