गांव जौहलां में दविन्द्र विरदी की अगुवाई में निकाला कैंडल मार्च, भारी संख्या में लोग हुए शामिल

जालन्धर (लखबीर)

सरकारों की नाकामी व कानून व्यवस्था की ढीली रफ्तार मासूम बच्चियों खास कर दलित लड़कियां के लिए श्राप सिद्ध होती जा रही है, जो गंभीर चिंता का विषय है। यह बात लोक इन्साफ पार्टी के जिला महासचिव दविन्द्र सिंह विरदी ने कैंडल मार्च निकालने दौरान कही। गांव जौहलां में दविन्द्र सिंह विरदी की अगुवाई में लोगों ने यूपी के हाथरस में दलित लड़की से बलातकार के बाद मौत के घाट उतारने के खिलाफ कैंडल मार्च निकाला। इस दौरान बड़ी गिनती में गांव के लोगों ने इक्टठे होकर यूपी सरकार व मुख्य मंत्री योगीराज खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। इस दौरान विरदी ने कहा कि यूपी की दलित लड़की मनीषा के साथ जो कार्य हुआ है, वह बहुत ही निंदनीय है। उन्होंने कहा कि आरोपियों के लिए फांसी की सजा भी कम है। चाहे कानून अनुसार आरोपियों को सजाएं मिल जाती हैं पर कानून व्यवस्था की ढीली रफ्तार कारण केस लंबित रहते हैं जिस कारण आरोपियों को लम्बे समय तक सजा नहीं मिल पाती। विरदी ने कहा कि इस तरह के आरोपियों को सजा-ए-मौत मिलनी चाहिए, वह भी जनता की हाजरी में किसी चौक में शरेआम गोली मार देनी चाहिए तांकि कोई अन्य इस तरह की हरकत करने से पहले हजार बार जरूर सोचे। उन्होंने कहा कि अरब देशों में इस तरह की घिनौनी हरकत करने वाले को इस तरह की सजाएं सुनाई जाती है, जिस कारण वहां कोई भी व्यक्ति बलातकार तो क्या किसी लड़की से छेड़छाड़ करने से भी घबराता है। इस अवसर पर मनजिन्द्रपाल सिंह, रवि लाल, बलवीर बाघा, सिमर दास, महिंगा सिंह, बिल्लू, भिंदी, सैंभी, अमरजीत, हिम्मत, कर्ण, गगन, राहुल, सिमरजीत राजू, हरमिन्द्र सिंह, हुकम सिंह, डा. राजिन्द्र बाघा व ईशवर बाघा विशेष तौर पर पहुंचे।

लोगों ने बांधे विरदी की तारीफों के पुल…

वहीं गांव के लोगों ने लोक इन्साफ पार्टी के जिला महासचिव दविन्द्र सिंह विरदी द्वारा किए जाने वाले समाज सेवी कार्यों की सराहना की। उन्होंने कहा कि अगर पंजाब का हरेक नौजवान दविन्द्र विरदी की तरह सोच रखके काम करेगा तो सूबा तरक्की के राह से कभी नहीं भटक सकेगा। लोगों ने कहा कि विरदी हमेशा समाज सेवी कामों में मोहरी भूमिका निभाते आ रहे हैं, जोकि बहुत ही सराहनीय है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!