गुस्ताखी माफ! पर सच्च है… तहसील दा एह मुलाजम अफसरां दीयां कुर्सियां ते करदा टूणा..!

गुस्ताखी माफ! पर सच्च है…

जालन्धर (लखबीर)

लो जी वैसे तां सरकारी दफ्तरां च कुर्सी दे थल्लों पैसियां दे लैन-देन दे मामले सामने आउंद रहंदे हन पर हैरानी उदों हुंदी है जदों कोई मुलाजम आपने सीनियर अधिकारी नूं काले जादू-टूणियां नाल वस्स च कदरा सामने आ जावे। जी हां, असीं गल्ल कर रहे हैं उसे आरसी (रजिस्ट्री कर्लक) दी जिसदे नां जिले दे दफ्तरां चों धक्के खा के बाहर निकलन दे रिर्काड दर्ज हन। दस्स दईये कि एह मुलाजम भ्रष्टाचार फैलाउन दा माहर है अते इस गंदे कम्म लई किसे भी हद्द तक जा सकदा है। इस तों पहलां इसनूं कई दफ्तरां चों छित्तर परेड करके रुखस्त कीता जा चुका है अते अधिकारियों वल्लों इसनूं पुराने दफ्तरां च दोबारा न लगाउण दीयां हदायतां भी जारी कीतीयां होईयां हन। हुण गल्ल करदे हां मुद्दे…

गुस्ताखी माफ! पर सच्च है…

पहलां जानदे हां कौन है एह टूणियां वाला मुलाजम…

दस्स दईये कि एह उह मुलाजम है जिस ने रूपए कमउण लई हर तरां दे गलत कम्म कीते होए हन। एह वीर इन्द्र भगवान नूं भी सिर्फ आपने घर च नोटां दी बरसात करवाउण लई पूजदा है। इस गल्ल तों साफ हुंदा है कि मुलाजम कौन है अते इसदी औकात की है। जिहड़ा मुलाजम आपने सीनियर अधिकारियां दीयां कुर्सियां ते टूणा कर सकदा है, उसदी मानसिकता की हो सकदी है, इस तों अंदाजा लगाया जा सकदा है।

गुस्ताखी माफ! पर सच्च है…

किवें करदा टूणे-टोटके…

एह मुलाजम भ्रष्टाचार च पूरे तरां डुब चुक्का है अते इस नूं बेइज्जत होण दी भी कोई परवाह नहीं है। माया इकट्ठी करन लई एह किसी भी हद्द तक डिग जांदा है। इसे तरां एह कुज समां पहलां बड्डे रैंक दे अधिकारी दी कुर्सी नाल काला धागा बणदा फड़िया गया सी, जिस तों बाद इसदी खूब छित्तर परेड होई। इस तों अलावा एह मुलाजम वीरवार नूं पीला ते बुधबार नूं चिट्टा प्रसाद वंडके टूणा करदा है।

गुस्ताखी माफ! पर सच्च है…

इस नूं बरखास्त करके भेजना चाहीदा पागलखाने..

समाज सेवक रवि कुमार शर्मा ने केहा कि अजिहे मुलाजम नूं नौकरी करण दा कोई हक्क नहीं है क्योंकि जो आपणे सीनियर अधिकारियां लई अजिहा कर सकदा है तां आम पबल्कि नाल की करदा होवेगा एह दस्सण दी जरूरत नहीं है। शर्मा ने कहा कि आखिर अधिकारी इस नूं बर्दाशत किवें कर रहे हन, समझ तों परे दी गल्ल है। इहनूं ता पागलखाने शिफ्ट कीता जाना चाहीदा है।

गल्ल अजे बाकी है…अग्गे पढ़ो

– रातां नूं दफ्तरां च करदा सी किहड़े पुट्ठे कम्म।

– गलत कम्मां चों किस अधिकारी नूं जांदा सी हिस्सा, उह भी आवेगा लोकां सामने।

– खुद मन्न चुका है कि इक अधिकारी लैंदा सी भ्रष्टाचार दे पैसियां चों बराबर हिस्सा।

-एह भी दस्सांगे कि दोनां ने मिलके रातां नूं किहड़े-किहड़े कम्म कीते।

-जल्दी ही इसदे होर कारनामे भी पेश होणगे लोकां दी कचहरी च।

error: Content is protected !!