ये है तहसील मेरी जान….जहां दफ्तर में ऐंट्री के लिए साहिब का ड्राइवर वसूलता है गुंडा टैक्स…पढ़ें पूरा मामला किस अधिकारी का है यह ड्राइवर…

जालन्धर (लखबीर)

सरकारी विभागों के सीनियर अधिकारियों ने रिश्वतखोरी पर लगाम कसने के मद्देनजर मुलाजिम व अन्य अधिकारियों को चौकस रहने के आदेश जारी किए हुए हैं पर हैरानी की बात है कि तहसील का एक इस तरह का विभाग का जहां अधिकारियों की नाक तले शरेआम रिश्वतखोरी तांडव करती प्रतीत हो रही है। जी हां, हम बात कर रहे हैं सब रजिस्ट्रार दफ्तर की जहां शरेआम लोगों व वसीका नवीसों से गुंडा टैक्स वसूला जा रहा है। इतना ही नहीं यह गुंडा टैक्स कोई ओर नहीं बल्कि साहिब का ड्राइवर इक्टठा कर रहा है। प्रत्येक वसीका नवीस व पार्टी से 100 से 200 रुपए वसूले जा रहे हैं। यह पैसा इक्टठा करके बंदर बांट कर ली जाती है। लोगों की मानें तो इस सारी कहानी साहब को पता होने के बाद भी कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई जा रही।

साहब लाखों में तो ड्राइवर हजारों में…

लोगों अनुसार तहसील में रोजाना लाखों रुपए का कारोबार हो रहा है तथा प्रत्येक दस्तावेज पर रिश्वत का गौरख धंधा वर्षों से चल रहा है। वहीं अब साहब का ड्राइवर भी इस बहती गंगा में हाथ धोने से आपने आप को दूर नहीं रख सका तथा उसने भी रिश्वतखोरी का गौरखधंधा शरेआम शुरू कर दिया है। नाम न लिखने की शर्त पर कई वसीका नवीसों ने कहा कि ड्राइवर से इतना परेशान हो चुके हैं कि वह दफ्तर आने से भी डरने लगे हैं। वहीं एक वसीका नवीस ने बताया कि ड्राइवर को जब तक गुंडा टैक्स नहीं मिलता वह साहब के पास जाने की इज्जात नहीं देता। कई बार तो वह गुंडा टैक्स वसूलने के लिए उनके (वसीका नवीस) के पीछे-पीछे दूर तक चला जाता है।

साहब ने झाड़ा पल्ला, बोले होगी कार्रवाई

इस सबंधी जब साहिब से बात की तो उन्होंने साफ तौर पर पल्ला झाड़ते हुए कार्रवाई की बात कही है। उन्होंने कहा कि अगर इस तरह का मामला सामने आता है तो अवश्य कार्रवाई की जाएगी।

 

 

 

This is Tehsil Meri Jaan… where the driver of Sahib charges the goonda tax for the entry in the office… Read the whole matter which officer is this driver…
error: Content is protected !!