सेमीफाइनल मैच से पहले ये क्या बोले विराट

लीड्स-न्यू जीलैंड के खिलाफ मंगलवार को होने वाले विश्व कप सेमीफाइनल से पहले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने जीत का भरोसा जताया। कोहली ने कहा कि टीम इंडिया आत्मविश्वास से भरी हुई हुई है। सेमीफाइल मुकाबले पर विराट ने कहा कि दवाब के मौकों पर टीम इंडिया हमेशा उम्मीद पर खरी उतरी है। उन्होंने कहा कि उनकी टीम न्यू जीलैंड के खिलाफ जीत की रणनीति के साथ उतरेगी।

टूर्नमेंट में अबतक 5 शतक ठोक चुके रोहित शर्मा की जमकर तारीफ करते हुए कोहली ने कहा कि मेरे हिसाब से वह दुनिया के नंबर वन बल्लेबाज है, मुझे उम्मीद है कि वह अगले मैच में भी अच्छा प्रदर्शन करेंगे। टीम इंडिया की गेंदबाजी की तारीफ करते हुए कोहली ने कहा कि अभी भारत की बोलिंग दुनिया में बेहतरीन है। उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि इस नॉकआउट गेम में हम बेहतर प्रदर्शन करेंगे।

कोहली ने मैच की पूर्वसंध्या पर प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘हमारी गेंदबाजी बेहतरीन है। लो स्कोरिंग गेम में भी हमने अच्छी गेंदबाजी की है। हालांकि न्यू जीलैंड की गेंदबाजी भी अच्छी है। मिशेल सेंटनर अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं। इस खास दिन हमें अच्छी क्रिकेट खेलनी होगी। अच्छी गेंदबाजी के सामने जो अच्छा खेलेगा वह जीतेगा।’

न्यू जीलैंड के खिलाफ रणनीति
सेमीफाइनल में न्यू जीलैंड और टीम इंडिया की ताकत और रणनीति को लेकर जब विराट से पूछा गया तो, उन्होंने कहा, ‘ न्यू जीलैंड का अटैक बहुत बैलंस है। उनके पेसर बहुत लय में हैं। उनके खिलाफ हमें बहुत अनुशासन में रहने की जरूरत है। इसके साथ ही हमें करेक्ट क्रिकेट खेलनी होगी। उनके बोलर्स की लाइन और लेंग्थ अच्छी रही है। वह बॉल को सही जगह पर रखने में कामयाब रहे हैं।’

‘धोनी के साथ खेलना सौभाग्य

महेंद्र सिंह धोनी ने जो भारतीय टीम के लिए योगदान दिया है वह बेहतरीन है। उन्होंने कहा, ‘मैंने उनके अंडर में करियर शुरू किया। धोनी के लिए मेरी आंखों में बहुत इज्जत है। वह हमेशा खुशमिजाज रहने वाले शख्स हैं। जब मैं उनसे कुछ पूछता हूं तो वह मुझे अच्छी सलाह देते हैं। मैं उनके साथ इतने साल खेलकर बेहद भाग्यशाली मानता हूं।’

‘टीम का हर खिलाड़ी आत्मविश्वास से भरा’

टीम का मूड कैसा है के सवाल पर विराट ने कहा कि टीम का हर खिलाड़ी रिलेक्स और आत्मविश्वास से भरा है। उन्होंने कहा कि टूर्नामेंट में हर टीम कड़ी मेहनत करती है। हमने भी काफी इंटेंस गेम खेले। खुश हैं हम सेमीफाइनल में पहुंच गए है। आगे के अवसर के लिए हम बेहद उत्साहित हैं।

‘मैच में डिसिजन मेकिंग अहम’
नॉकआउट कि लिए टीम की तैयारी कैसी है के सवाल पर विराट ने कहा कि ईमानदारी से कहूं तो लीग मैच में टीम रिलेक्स होती है। नॉकआउट गेम आपको तनाव के साथ ही बहुत फोकस्ड भी होना पड़ता है। डिसिजन मेकिंग अहम रहेगा। दोनों टीमों के पास अनुभव है। न्यू जीलैंड पिछली बार फाइनल में थी। उसे पता है कि नॉकआउट गेम कैसे खेलना है। उस खास दिन जो टीम जज्बा दिखाती है, उसके जितने के अवसर ज्यादा होते हैं।

‘शतक नहीं लगाने का मलाल नहीं’

विराट ने कहा, ‘मुझे शतक नहीं लगाने का मलाल नहीं है, मुझे अलग रोल निभाने हैं। रोहित बेहतरीन खेल रहे हैं, पारी के बीच में मुझे अपनी अलग भूमिका निभानी होती है। वनडे क्रिकेट में रोल बदलते रहते हैं। पर्सनल माइलस्टोन पर कोई भी फोकस नहीं करता है, रोहित भी ऐसा करते हैं। इसी प्रक्रिया में रेकॉर्ड बन जाते हैं। मैं हमेशा टीम के लिए खेलना चाहता हूं। उम्मीद करता हूं कि दो और गेम जीत जाऊं। किसी ने भी 5 शतक लगाने के बारे में नहीं सोचा होगा। रोहित दुनिया के टॉप वनडे प्लेयर हैं।’

2008 के U-19 मैच पर कहा, कल विलियमसन को याद दिलाऊंगा

विश्व कप सेमीफाइनल में न्यू जीलैंड के कप्तान केन विलियमसन और खुद अपनी टीम को लीड करने को लेकर पूछे गए सवाल पर विराट ने कहा, ‘जब हम कल (मंगलवार) मिलेंगे तो मैं उन्हें याद दिलाऊंगा। यह महसूस कर अच्छा लग रहा है कि 11 साल बाद हम सीनियर वर्ल्ड कप में दोबारा अपनी-अपनी टीमों की कप्तानी कर रहे हैं।’

आपको बता दें कि 2008 में अंडर-19 विश्व कप का सेमीफाइनल भी भारत और न्यू जीलैंड के बीच हुआ था और उस समय भारतीय टीम की कप्तानी विराट कोहली और न्यू जीलैंड की कैप्टन विलियमसन ने ही की थी। भारत वह मैच जीता था। विराट ने आगे कहा, ‘कई खिलाड़ी उस विश्व कप से हमारी बैच के हैं, वे दूसरी टीमों में भी हैं। वे राष्ट्रीय टीम में खेले और अब भी खेल रहे हैं। मुझे लगता है कि यह सचमुच खूबसूरत यादें हैं। हमने या उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि एक दिन हम वापस आमने-सामने होंगे।’

Source link

error: Content is protected !!