ऑनलाइन बुक स्टोर से शुरुआती निवेशकों को मिला 1 हजार गुना फायदा

न्यूयॉर्क- ऑनलाइन बुक स्टोर से शुरुआत करने वाली अमेजन ने 5 जुलाई को अपने 25 साल पूरे कर लिए। घर के गैराज से शुरू हुई अमेजन 25 साल में 1 लाख करोड़ डॉलर (70 लाख करोड़ रुपए) वैल्यूएशन वाली दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी बन गई। इसके संस्थापक जेफ बेजोस दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति हैं।

टाइम मैग्जीन ने बेजोस को किंग ऑफ साइबर कॉमर्स कहा था

तीन लोगों के साथ 5 जुलाई 1994 को शुरू हुई अमेजन आज साढ़े 6 लाख कर्मचारियों के साथ अमेरिका की सबसे बड़ी नियोक्ता कंपनी है। 1997 में जब पहली बार कंपनी पब्लिक हुई तब इसका एक शेयर 1.96 डॉलर का था। आज 991 गुना वृद्धि के साथ अमेजन का एक शेयर 1942.91 डॉलर का है। अमेजन के प्लेटफॉर्म पर सामान बेचने वाले 25 हजार से ज्यादा विक्रेता (वेंडर) अब तक करोड़पति बन चुके हैं। अमेजन आज ई कॉमर्स, इंटरनेट, क्लाउड कम्प्यूटिंग, वीडियो स्ट्रीमिंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के क्षेत्र में दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है।

टाइम मैगजीन ने 1999 में जेफ बेजोस को पर्सन ऑफ द ईयर और द किंग ऑफ साइबर कॉमर्स की उपाधि दी। 35 साल की उम्र में यह पुरस्कार पाने वाले बेजोस चौथे सबसे युवा बने थे।

बेजोस ग्राहक संतुष्टि के मूल मंत्र पर लगातार काम करते रहे और इस के लिए कई नए प्रयोग किए। साल 2005 में बेजोस अमेजन प्राइम मेंबरशिप लेकर आए। इसने कंपनी को नई ऊंचाइयां दी।

ई-कॉमर्स बिजनेस में कंपनियों की हिस्सेदारी

अमेजन 45%
ई-बे 6.8%
वॉलमार्ट 4.0%
एपल 3.8%
होम डिपो 1.6%
बेस्ट बॉय 1.3%
अन्य 37%

Source link

error: Content is protected !!